Featured Posts

कांग्रेसियो ने किया समीक्षा बैठक का आयोजन

कैराना। मोहल्ला बिसातियान स्थित नदीम अहमद एडवोकेट जिला अध्यक्ष ASV के आवास पर मुख्य अतिथि माननीय सैय्यद वसी अहमद रिजवी प्रदेश उपाध्यक्ष/सहारनपुर मंडल अध्यक्ष द्वारा बैठक की गई। मुख्य अतिथि का फूल मालाओं से स्वागत किया गया। बैठक की अध्यक्षता नदीम अहमद एडवोकेट ने की तथा संचालन शामली जिला महासचिव चौधरी इंतजार बागबान ने किया। समीक्षा बैठक में मुख्य अतिथि सैय्यद वसी अहमद रिजवी प्रदेश उपाध्यक्ष/मंडल अध्यक्ष ने सभी पदाधिकारियों की उपस्थिति दर्ज कराते हुए लोकसभा चुनाव का फीडबैक लिया तथा ASV शामली के सभी पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं को बधाई देते हुए कहा कि आप सभी ने कड़ी मेहनत और लगन से चुनौतियों का सामना किया है तथा इंडिया गठबंधन प्रत्याशी इकरा चौधरी को जिताकर सांसद में भेजा है। आप सभी कांग्रेस कार्यकर्ता बधाई के पात्र हैं। उन्होंने कहा कि 2027 यूपी विधानसभा चुनाव की तैयारी में अभी से लग जाएं। जिला अध्यक्ष एडवोकेट नदीम अहमद ने कहा कि इंडिया गठबधन को मुसलमानों का बड़ा वोट मिला है।  पिछड़े व अति पिछड़े वर्ग का भी एक बड़ा हिस्सा इंडिया गठबंधन के साथ था। इसके लिए अल्पसंख्यक कांग्रेस इन वर्गों का विशेष आभार व्यक्त करती है। उन्होंने कहा इंडिया गठबंधन ने 13 विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव में 10 सीटों पर जीत हासिल की है। पवित्र नगरी अयोध्या को खोने के बाद हरिद्वार, मंगलौर, बद्रीनाथ विधानसभा सीटों पर भाजपा की हार साबित करती है कि देश की जनता ने अब नफरत की राजनीति करने वालों को पूरी तरह से नकार दिया है। इसीलिए भाजपा को हर मोर्चे पर असफलता का सामना करना पड़ रहा है। देश नफरत की राजनीति से नहीं बल्कि प्रेम और भाईचारे से चलेगा। देश की जनता देश में नफरत नहीं बल्कि भाईचारा चाहती है। इंडिया गठबंधन की भारी जीत पर खुशी जताते हुए उन्होंने कहा कि भाजपा का जनाधार तेजी से कम हो रहा है।

इस अवसर पर एआईएमआईएम पार्टी छोड़कर कांग्रेस पार्टी में शामिल हुए मुनव्वर, शाहवेज, डॉ. नदीम का फूलमालाओं से स्वागत किया गया और जिला अध्यक्ष ने उनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलने का आश्वासन दिया।  जिला कांग्रेस कमेटी की प्रथम सूची मुख्य अतिथि को सौंपी गई तथा उन्होंने शामली जिले के सभी पदाधिकारियों के साथ मिलकर 'मेरा बूढ़ा सबसे मजबूत' के आधार पर कार्य करने का आश्वासन दिया।

मुख्य रूप से मशकूर (बीडीसी), खालिद, राशिद, इंतजार, फजल, महिपाल, हंसराज सैनी, नरेश हरिजन, पटवारी कश्यप, राशिद खान, आसिफ खान, अकबर अली, इदरीश, यामीन, बशीर, फरजंद, इनाम, मुनव्वर, अली हसन, आसिफ  जंग, इसराइल अब्बासी, सादिक तोमर, फाजिल, आरिफ मलिक, जबरदीन आदि कांग्रेसी मौजूद रहे। इमरान अब्बास 
#vidhayakdarpan
8010884848

हरियाणा की नब्बें सीटों पर चुनाव लड़ेगा महागठबंधन : राजीव वर्मा एडवोकेट

कल दिनांक 21/7/24 को भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी द्वारा एक कार्यकर्ता सम्मेलन जैन बाग कॉलोनी सोनीपत हरियाणा स्थित कार्यालय में आयोजित किया गया। जिसमें सैंकड़ो की संख्या में लोगो ने  शहर के विभिन्न हिस्सों से शिरकत की, जिसमें मुख्य रूप से भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के असिस्टेंट स्टेट सेकेट्री एडवोकेट सतेंद्र गिरी जी ने भी अपनी उपस्थिति दर्ज कराई । यह कार्यकर्ता सम्मेलन भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के सोनीपत ज़िला सचिव एडवोकेट राजीव वर्मा द्वारा आयोजित किया गया। जहाँ पर राजीव वर्मा जी ने कहा कि इस महागठबंधन को भगत सिंह, बी॰ आर॰ अम्बेडकर, ज्योतिबा राव फूले एवं अश्फ़ाक उल्ला ख़ान के विचारों पर बनाया जाएगा और ये निश्चित ही हरियाणा में बदलाव लाएगा। भाजपा जोकि जुमलेबाज सरकार है और  फूट डालो और राज करो की नीति अपना रही है

अगर भाजपा इतनी ही पिछड़ा वर्ग की हितैषी थी तो पिछड़ा वर्ग का मुख्यमंत्री क्यों नहीं बनाया अब जाती हुई सरकार में पिछड़े वर्ग का  मुख्यमंत्री बानाने का लॉलीपॉप देकर वोट बटोरने की साजिश रची जा रही है भाजपा पिछडे वर्ग को सिर्फ लॉलीपॉप देने का काम कर रही है भाजपा इतनी ही पिछडे वर्ग की हितेषी थी तो पिछले 10 साल से पिछडे वर्ग का मुख्यमंत्री क्यों नहीं बनाया अब , जाती हुई सरकार में पिछडे वर्ग का ही मुख्यमंत्री क्यों बनाया गया इस बात को समझें उन्होंने कहा कि हरियाणा में इस बार इनके नापाक इरादे पूरे नही होंगे दलित पिछड़ा और मुसलमान साथ मिलकर  हरियाणा सरकार बनाएंगे इस मीटिंग में हरियाणा में होने वाले आगामी विधानसभा चुनाव के लिए चर्चा की गई। इसी का आगाज़ करने के उद्देश से एक महागठबंधन रैली जो 15 अगस्त को होनी है उसके लिये सभी से आह्वाहन किया गया। और 90 की 90 विधानसभा सीटो पर चुनाव लड़ने की तैयारी की गई। इस मौके पर मो॰ इमरान (डेवडु) ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी हिंदू मुस्लिम का ज़हर लोगों के दिलों में घोलकर सत्ता हासिल करना चाहती है। हम उन्हें उनके बुरे मनसूबे में कामयाब नहीं होने देंगे। हिंदू मुस्लिम के भाई चारे की मिसाल हरियाणा प्रदेश में स्थापित करके रहेंगे।

सत्येंद्र गिरी जी ने आगामी हरियाणा विधानसभा चुनाव की रणनीति को लेकर चर्चा की और भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी को किस प्रकार से और किन पार्टियों के साथ और सामाजिक संगठनों के साथ प्रदेश स्तर पर करना चाहिए। एडवोकेट राजीव  वर्मा जी ने कहा कि “ आज जो हालात हरियाणा में बद से बदतर हो गए हैं जिसके लिये सत्ता रूढ पार्टी भाजपा की राजनीतिक नीतियाँ हैं। आज प्रदेश में दलितों पिछड़ो और अल्प संख्यकों पर जो अत्याचार किए जा रहे हैं जो भाजपा की दलित विरोधी नीतियों को ज़ाहिर करते हैं। आम जनता के मुख्य मुद्दे रोज़गार, शिक्षा और चिकित्सा को लेकर भाजपा कुंभकर्णी नींद में सोयी हुई है

और हरियाणा की जनता वोट की चोट देकर इनकी कुंभकर्णिये नींद से जगाने का काम करेगी । इस मौक़े पर एडवोकेट नरेंद्र बल्हारा, एडवोकेट प्रवीन नागर, एडवोकेट देवेंद्र वर्मा, वकील खान, नईम, इरफ़ान, हरिओम खटक, प्रमोद राठी, मुकेश नागर, धर्मवीर मेहरा, प्रेम सिंह चौहान और नितिन तनेजा आदि सैंकड़ो की संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित थे। विधायक दर्पण न्यूज सोनीपत हरियाणा से इकराम अंसारी की रिपोर्ट
#vidhayakdarpan 
8010884848

पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारियों के साथ शहीद रूपेन्द्र तोमर के घर पहुंचे शामली के प्रभारी मंत्री प्रभारी मंत्री ने पीड़ित परिवार को दी सांत्वना, करनाल हाईवे से गांव बीबीपुर तक शहीद के नाम पर बनेगी डेढ़ किलोमीटर की सड़क और गेट

झिंझाना थाना क्षेत्र के गांव बीबीपुर निवासी रूपेंद्र तोमर 2004 में मिलिट्री में भर्ती हुआ था। जो आजकल श्रीनगर इलाके में ड्यूटी कर रहा था। शुक्रवार को श्रीनगर की पहाड़ियों ड्यूटी के दौरान उसकी

मृत्यु हो गई। शुक्रवार को जब यह सूचना परिजनों को गांव में मिली तो घर में तभी से कोहराम मचा हुआ है। रूपेंद्र के शहीद होने से पूरे इलाके में दुख की लहर है।रूपेंद्र की शहादत की खबर सुनकर इलाके को ही नहीं, प्रशासन को भी दुख हुआ है। यह सूचना सुनकर जिले के प्रभारी एवं लोक जनशक्ति मंत्री दिनेश खटीक पूरे प्रशासनिक अमले और जिले के विधायकों के साथ

बीबीपुर जलालाबाद गांव में शहीद के घर पहुंचे‌, और परिजनों को सांतवना दी। इस मौके पर ग्राम प्रधान ने करनाल हाईवे से गांव तक करीब डेढ़ किलोमीटर की सड़क को शहीद के नाम पर बनवाने की मांग की ।

जिस पर प्रभारी मंत्री ने सड़क बनवाने के साथ-साथ गेट बनवाने का भी आश्वासन दिया। और मौके पर मौजूद जिला अधिकारी रविन्द्र कुमार को आवश्यक कार्यवाही के निर्देश दिए । इस मौके पर शामली जिलाधिकारी रविंद्र सिंह, अपर जिला अधिकारी संतोष कुमार, पुलिस अधीक्षक रामसेवक गौतम, शामली सदर  रालोद विधायक

प्रसन्न चौधरी, थानाभवन विधायक अशरफ अली खान, भाजपा जिला अध्यक्ष तेजेंद्र निर्वाल, पूर्व अध्यक्ष सत्येंद्र तोमर, ऊन ब्लॉक प्रमुख चौधरी रामपाल सिंह, भाजपा नेता अनिल चौहान, थाना प्रभारी निरीक्षक धर्मेंद्र सिंह आदि अधिकारी गण और नेतागणों ने शहीद के घर पहुँच कर सांत्वना दी ।

और कल से ही सांत्वना देने वालों का तांता लगा हुआ है। बताया गया कि शहीद फौजी रूपेंद्र तोमर का शव कल रविवार को करीब 8 बजे गांव में पहुंच जाएगा। जहां राजकीय सम्मान के साथ उसका अंतिम संस्कार किया जाएगा। 

बाईट -  शौकिंन्द्र सिंह  (शहीद रूपेंद्र के भाई) विधायक दर्पण न्यूज शामली उत्तर प्रदेश से ब्यूरो चीफ सलेक चंद वर्मा की रिपोर्ट 
#विधायकदर्पण
8010884848

जैन आस्था से खिलवाड़ बर्दाश्त नही होगा - गौरव जैन

जैन तीर्थ गिरनार के मुद्दे पर सांसद को दिया मांग पत्र, जैन आस्था से खिलवाड़ बर्दाश्त नही होगा - गौरव जैन, गिरनार तीर्थ पर जैनो को आस्थानुसार हो दर्शन  - सुदीप जैन, गौरतलब है कि जैन एकता मंच,राष्ट्रीय द्वारा पूर्व घोषित कार्यक्रमानुसार 20 जुलाई 2024 को अपने अपने क्षेत्रीय सांसद को  गिरनार जैन तीर्थ पर हो रहे अन्याय के विरुद्ध मांग पत्र दिये जाने का कार्यक्रम तय था जिसके तहत जैन समाज का प्रतिनिधि मंडल आज प्रातः बिजनोर सांसद चंदन चौहान के आवास पर पहुंचा व मांग पत्र इस आशय के साथ दिया कि वह जैन समाज की आवाज सरकार तक अवशय पहुंचाएंगे* तथा सरकार गिरनार तीर्थ पर कोर्ट द्वारा दिये गये आदेशो को बहाल करने के साथ ही वहां के प्रशासन के तानाशाही रवैये के संज्ञान लेते हुए वहां शांतिपूर्ण व्यवस्था बहाल कराएगी
*जैन एकता मंच युवा शाखा के राष्ट्रीय अध्यक्ष गौरव जैन ने कहा कि* जैन तीर्थ सम्मेदशिखर जी पर सरकार द्वारा लिये गये तानाशाही निर्णयों से उत्पन्न आंदोलन अभी पूरी तरह शांत भी नही हुआ था कि 22 वें जैन तीर्थंकर नेमिनाथ भगवान की मोक्ष स्थली गुजरात के जूनागढ़ स्थित गिरनार तीर्थ पर मौजूद असामाजिक तत्वों द्वारा जैन श्रद्धालुओं पर हमले तेज हो गये है व बार बार हमले की घटनाओं से जानबूझकर सरकार व प्रशासन भी लगातार अनभिज्ञ बना हुआ है, जैन समाज मे सरकार की इस ओर अनदेखी व प्रशासनिक तानाशाही से अत्याधिक नाराजगी और आक्रोश बना हुआ गौरव जैन ने यह भी कहा कि जैन समाज के साथ किसी भी प्रकार का अन्याय व उत्पीड़न अब बर्दाश्त नही किया जायेगा
*विश्व श्रमण संस्कृति श्री संघ के राष्ट्रीय महामंत्री सुदीप जैन ने बताया कि* वह एक प्रतिनिधिमंडल के साथ हाल ही में नेमिनाथ भगवान के निर्वाण दिवस पर गिरनार तीर्थ की पांचवी टोंक पर निर्वाण लड्डू चढ़ाने के उद्देश्य से गिरनार यात्रा पर गये थे जहां कुछ असामाजिक तत्व लगातार भय का माहौल बनाने का प्रयास कर रहे थे व प्रशासन का रवैया भी जैनो की ओर से काफी निराशाजनक था यह कार्यक्रम इसीलिए आवश्यक हैं ताकि जैन समाज को आस्थानुसार पूजा अर्चना का अधिकार मिल सके
*जैन एकता मंच,राष्ट्रीय(रजि.) के प्रतिनिधि मंडल ने सामूहिक रूप से कहा कि* समाज में व्याप्त नाराजगी व लगातार हो रहे अन्याय के विरुद्ध आवाज बुलंद करने की ओर 20 जुलाई 2024 का मांग पत्र देने का कार्यक्रम अभी शुरुआत है गिरनार पर अधिकार व न्याय के लिये इस आंदोलन को कितना भी बड़ा करना पड़े लोकतांत्रिक तरीके से किया जायेगा ताकि जैन धर्मावलंबियों को न्याय मिले व गिरनार तीर्थ पर जैन धर्म/तीर्थ व सन्त के अधिकारों की सुरक्षा सुनिश्चित हो सके 
*मांग पत्र देने वालो में मुख्य रूप से जैन एकता मंच युवा शाखा के राष्ट्रीय अध्यक्ष गौरव जैन,विश्व श्रमण संस्कृति श्री संघ के राष्ट्रीय महामंत्री सुदीप जैन,अमित जैन एडवोकेट,सुनील जैन'टीकरी',अजय जैन,अश्वनी जैन,आशीष जैन,नितिन जैन जोले वाले,नितिन जैन'मोंटू',विक्की जैन आदि लोग मौजूद रहे। गौरव जैन,राष्ट्रीय अध्यक्ष, जैन एकता मंच"युवा शाखा" मो.- 9454452850,7409999077
#vidhayakdarpan 
8010884848

सोनीपत से कांग्रेस विधायक सुरेंद्र पंवार को लिया गया हिरासत में - सूत्र

सूत्रों के हवाले से बड़ी खबर, सोनीपत : हरियाणा में चुनाव से पहले ईडी की बड़ी कार्रवाई, सोनीपत से कांग्रेस विधायक सुरेंद्र पंवार को लिया गया हिरासत में - सूत्र, ईडी सोनीपत से कांग्रेस विधायक सुरेंद्र पंवार को अंबाला दफ्तर के लिए लेकर निकली - सूत्र , विधायक दर्पण न्यूज सोनीपत हरियाणा से पत्रकार इकराम अंसारी की रिपोर्ट 
#vidhayakdarpan 
8010884848

मुस्लिम भी कावंड़ियों के लिए बनाते हैं ड्रेस, सजाते हैं कांवड़...', सीएम योगी के फैसले पर भड़के सहारनपुर सांसद इमरान मसूद

यूपी में कांवड़ यात्रा मार्ग पर दुकानों और ढाबों पर मालिक-संचालक का नाम लिखे जाने के निर्देश को लेकर सहारनपुर के सांसद इमरान मसूद ने योगी सरकार पर हमला बोला है. उन्होंने कहा, कांवड़ यात्रियों की पोशाकें, हौजरी मुसलमान कारीगर बनाते हैं, मेरठ में कांवड़ को सजाने का काम मुसलमान करते हैं. आप नफरत की जो बातें करते हैं इससे कोई फायदा नहीं है.यूपी में कांवड़ यात्रा मार्ग पर दुकान और ढाबे मालिक का नाम लिखे जाने के सीएम योगी के आदेश पर कांग्रेस नेता इमरान मसूद ने तीखी प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने सरकार पर हमला बोलते हुए कहा की कांवड़ यात्रा शिविरों में हम लोग पहले से सेवा करते आ रहे हैं.उन्होंने कहा, 'कांवड़ यात्रियों की पोशाकें, हौजरी मुसलमान कारीगर बनाते हैं, मेरठ में कांवड़ को सजाने का काम मुसलमान करते हैं. आप नफरत की जो बातें करते हैं इससे कोई फायदा नहीं है. कांवड़वालों को इससे कोई फर्क नहीं पड़ेगा. हमें आपस में प्यार-मोहब्बत है, हम आपके एजेंडे से भटकने वाले लोग नहीं है. विधायक दर्पण न्यूज सहारनपुर उत्तर प्रदेश से पत्रकार कलीम अहमद की रिपोर्ट 
#vidhayakdarpan 
8010884848

सीएम योगी पूरे यूपी में कांवड़ मार्ग पर दुकानों का 'नामकरण' क्यों करा रहे? पूरे देश में सियासी उबाल

मुजफ्फरनगर में कांवड़ यात्रा के दौरान दुकानों के बाहर मालिकों का नाम लिखने के आदेश के बाद, कुछ दुकानों के नाम बदले जाने लगे हैं। जैसे, 'चाय लवर पॉइंट' का नाम बदलकर 'वकील अहमद टी स्टॉल' कर दिया गया है। वहीं, 'साक्षी ढाबा' से चार मुस्लिम कर्मचारियों को हटा दिया गया है। इसे लेकर योगी आदित्यनाथ की सरकार विपक्ष के निशाने पर है।मुजफ्फरनगर: उत्तर प्रदेश में कांवड़ यात्रा को लेकर मुजफ्फरनगर जिला प्रशासन का एक आदेश योगी सरकार के लिए मुसीबत बन गया है। सांप्रदायिक फैसला बताकर अखिलेश यादव, मायावती, असदुद्दीन ओवैसी समेत तमाम विपक्षी दल के नेता प्रदेश की भाजपा सरकार पर बरस पड़े हैं। दरअसल, यहां जिला प्रशासन ने इस बार की कांवड़ यात्रा पर एक नया आदेश जारी किया है, जिससे बखेड़ा खड़ा हो गया है। इस बार कांवड़ यात्रा के रास्ते में पड़ने वाले खानपान की दुकान, होटल, ढाबे, ठेले आदि जहां से भी शिवभक्त कांवड़िए खाने का सामान खरीद सकते हैं उन सभी को कहा गया है कि वे अपनी दुकानों के बाहर मालिक और काम करने वालों का नाम जरूर लिखें। इससे कांवड़ियों में किसी प्रकार का कोई कन्फ्यूजन न हो जो विवाद का कारण बन सके।सहारनपुर डीआईजी अजय कुमार साहनी ने कहा कि कांवड़ मार्ग को लेकर जैसा प्रत्येक वर्ष होता रहा है, कुछ लोगों ने इस बात की आपत्ति प्रकट की थी कि जब कांवड़िए आते हैं तो सामान की कीमतों को लेकर विवाद पैदा होता है। इसके साथ ही दुकान किसी और की और नाम किसी और व्यक्ति का लिखा होने से भ्रम की स्थिति पैदा हो जाती है। इसको देखते हुए जितने होटल, ढाबे या फिर जितनी खानपान की दुकाने हैं, सब को यह आदेश जारी किया गया है। इस बार के कांवड़ मेले को लेकर मुजफ्फरनगर एसएसपी अभिषेक सिंह का कहना है कि कांवड़ की तैयारी शुरू हो गई है और हमारे जनपद में लगभग 240 किलोमीटर का कांवड़ मार्ग है। इसमें जितनी भी खान-पान की दुकानें हैं उन सब को यह निर्देष दिया गया है कि अपने मालिक या काम करने वालों के नाम जरूर डिस्प्ले करें। हालांकि, इसे लेकर सियासी विवाद खड़ा हो गया है। तमाम विपक्षी दलों के नेताओं ने इस फैसले पर विरोध जताया है।
अखिलेश यादव ने कहा - आदेश सामाजिक अपराध
सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव ने भी इस मामले पर ट्वीट कर कहा कि ऐसे आदेश सामाजिक अपराध हैं, जो सौहार्द के शांतिपूर्ण वातावरण को बिगाड़ना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि जिनके नाम गुड्डू, मुन्ना, छोटू या फत्ते है, उसके नाम से क्या पता चलेगा? उन्होंने कहा कि कोर्ट इस मामले में स्वत: संज्ञान ले और ऐसे प्रशासन के पीछे के शासन तक की मंशा की जांच करवाकर, उचित दंडात्मक कार्रवाई करे।कांग्रेस ने कहा - ये भारतीय तहजीब पर हमला
कांग्रेस ने कहा कि उत्तर प्रदेश में मुजफ्फरनगर पुलिस का आदेश भारतीय तहजीब पर हमला और ‘मुसलमानों के आर्थिक बहिष्कार का सामान्यीकरण करने’ का प्रयास है। पार्टी के मीडिया विभाग के प्रमुख पवन खेड़ा ने आरोप लगाया कि इस कदम के पीछे का मकसद मुसलमानों के आर्थिक बहिष्कार करने का सामान्यीकरण करना है।ओवैसी ने कहा - योगी में हिटलर की आत्माअसदुद्दीन ओवैसी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को इस संबंध में लिखित आदेश जारी करने की चुनौती दी। उन्होंने कहा कि लगता है सीएम योगी में हिटलर की आत्मा समा गई है। उन्होंने इसे स्पष्ट रूप से ‘भेदभावपूर्ण’ आदेश करार दिया और आरोप लगाया कि यह दर्शाता है कि सरकार उत्तर प्रदेश और पूरे देश में मुसलमानों को ‘दूसरे दर्जे’ का नागरिक बनाना चाहती है।मायावती ने कहा - आदेश एक गलत परंपरा
इस घटना पर बहुजन समाज पार्टी प्रमुख मायावती ने ‘एक्स’ पर कहा,''पश्चिमी उप्र व मुजफ्फरनगर जिला के कांवड़ यात्रा मार्ग में पड़ने वाले सभी होटल, ढाबा, ठेला आदि के दुकानदारों को मालिक का पूरा नाम प्रमुखता से प्रदर्शित करने का नया सरकारी आदेश एक गलत परम्परा है जो सौहार्दपूर्ण वातावरण को बिगाड़ सकता है। जनहित में सरकार इसे तुरंत वापस ले।'' राजीव वर्मा एडवोकेट का बयान सीपीआई नेता राजीव वर्मा एडवोकेट ने कहा कि कांवड़ यात्रा मार्ग पर खाने-पीने की दुकानों पर मालिकों का नाम प्रदर्शित करने के मुजफ्फरनगर पुलिस के आदेश को वापस लिया जाना चाहिए क्योंकि इससे सांप्रदायिक तनाव फैल सकता है। वर्मा ने कहा कि धर्म और जाति के आधार पर किसी भी प्रकार का भेदभाव नहीं होना चाहिए।नकवी की सफाई वहीं इसे लेकर भाजपा नेता मुख्तार अब्बास नकवी ने सफाई दी है। उन्होंने कहा कि एक सीमित प्रशासनिक दिशानिर्देश के कारण इस तरह का असमंजस हुआ था, मुझे खुशी है कि राज्य सरकार ने जो भी सांप्रदायिक भ्रम पैदा हुआ था उसे दूर किया है। जहां तक नाम का सवाल है तो योगी सरकार ने किसी धर्म के लोगों को यह निर्देश नहीं दिया है। ये आदेश सभी दुकानदारों के लिए है। कांवड़ यात्रा के समय श्रद्धालु खाने पीने की कई चीजों से परहेज करते हैं। इसलिए उनकी श्रद्धा का सम्‍मान होना चाहिए। इस पर किसी तरह का सांप्रदायिक भ्रम पैदा नहीं करना चाहिए। यह किसी के भले के लिए नहीं है।बदले जाने लगे हैं दुकानों के नाम
आदेश के बाद मुजफ्फरनगर में दुकानों के नाम बदलने शुरू हो गए हैं। खतौली बाईपास पर मौजूद एक चाय की दुकान का नाम पहले चाय लवर पॉइंट हुआ करता था मगर उसके मालिक का नाम फहीम है। ऐसे में अब चाय लवर पॉइंट की जगह दुकान का नाम बदलकर वकील अहमद टी स्टॉल कर दिया गया है। खतौली बाईपास पर एक साक्षी ढाबा नाम के ढाबे पर काम कर रहे चार मुस्लिम कर्मचारियों को हटा दिया गया है। जब इस बारे में ढाबे के मालिक से बात की तो उन्होंने कहा कि पुलिस और प्रशासन के लोग आए थे जिन्होंने मुस्लिम कर्मचारियों को हटाने की बात कही जिसके बाद उन्होंने उन चार मुस्लिम कर्मचारियों को हटा दिया है।मामले पर मुजफ्फरनगर पुलिस का बयानआदेश पर बवाल के बाद पुलिस ने कहा कि सभी दुकानदारों से निवेदन किया गया है कि वे अपनी इच्छा से अपनी दुकानों के बाहर अपना और काम करने वाले लोगों का नाम डिस्पले करें। ऐसा इसलिए कहा गया क्योंकि कांवड़िय़े सावन में कुछ तरह के खाने का परहेज करते हैं। ऐसा आदेश पारित किया गया ताकि कांवड़ियों में किसी तरह का कोई कन्फ्यूजन न हो और धार्मिक तनाव से बचा जा सके। पुलिस ने अपने बयान में कहा कि पहले भी ऐसी घटनाएं हो चुकी हैं जिनसे कांवड़ियों में कन्फ्यूजन फैलने से कानून व्यवस्था की स्थिति पैदा हो गई थी।